loading...

देहरादून गया तो चोद के वापस आया

antarvasna hindi sex story, एक बार मैं देहरादून गया और चोद के वहा से वापस आया. हॉट देसी सेक्स कहानी. दोस्तो, मैं चोद चुदाई का शौकीन अर्पित सहारनपुर का रहने वाला हूँ लेकिन फिलहाल देहरादून में रहता हूँ और एक मार्केटिंग की कंपनी में काम करता हूँ तो घूमना फिरना लगा ही रहता है. दिखने में स्मार्ट 5’10” हाइट और बॉडी फिट!
यहाँ मैं आपको एक अपनी ज़िंदगी की कहानी बताने जा रहा हूँ.

एक बार मैं दिल्ली से वापस देहरादून आ रहा था, शाम का समय था और एसी बस थी और हल्की सी ठंड भी थी.
मैं बीच में दो वाली सीट पर बैठा था और मेरे पास वाली सीट खाली थी.

मेरठ से एक औरत, जिसकी उम्र 28 के आस पास होगी, चढ़ी, वहाँ से दो तीन कपल और चढ़े, वो सब एक साथ सीट लेकर बैठ गए क्योंकि काफी सीटें खाली थी.
अब बस एसी थी, उसमें ज़्यादातर कपल ही थे जो इकट्ठे बैठे थे.
वो औरत मेरे पास वाली सीट पर मेरे से पूछ कर बैठ गई.

बस चल पड़ी, थोड़ा अंधेरा भी हो गया था तो हम ऐसे ही बात करने लगे तो पता चला कि वो भी देहरादून जा रही है और वहीं रहती है. उसका पति वहीं किसी कंपनी में काम करता है. उसका एक बेटा भी है 5 साल का जो स्कूल जाता है.
उसकी चुची 34″ के आस पास थी और रंग गोरा चिट्टा दूध की तरह…

उससे और बातचीत हुई तो पता चला कि उसका पति सुबह जल्दी जाता है और रात को ओवर टाइम करके तब आता है. तो मुझे अपना पत्ता जमता दिखा, मैंने थोड़ी उसको सहानूभूति दिखाई और उसको उसके पति की जॉब की अच्छी जॉब का लालच भी दिया तो वो पटाए में आ गई और मैंने उसके मोबाइल नंबर और उसके घर का अड्रेस ले लिया.

उसके बाद हम देहरादून आ गये.

फिर एक दिन मैंने उसके घर जाने की सोची, मैंने उसको फोन किया तो वो बोली तो मैंने उसको कहा- आपके लिए एक काम है, मैं आपके घर आ जाऊँ?
तो उसने हाँ बोल दिया.

सुबह का टाइम था, मैं उसके घर पहुंच गया, उसका बेटा भी स्कूल चला गया था, उसने लोवर टी शर्ट डाल रखी थी, शायद अभी काम से फ्री हुई होगी.
उसने मुझे बैठने के लिए कहा और पानी लेने चली गई.
पानी देकर उसने कहा- मैं अभी आती हूँ चेंज करके… आप बैठो!
तो मैंने कहा- रहने दो, अच्छी लग रही हो!
वो हल्का सा मुस्करा दी.

उसके बाद वो कोल्डड्रिंक लेकर आई.
मैंने उससे कहा- तुम इस टाइम खाली और अकेली रहती हो तो क्या करती हो?
उसने कहा- कुछ खास नहीं, बस टीवी या सीडी देख लेती हूँ.

वो बर्तन रखने चली गई तो मैंने वहाँ पड़े रिमोट को उठाया और सीडी प्ले की तो क्या देखता हूँ सीडी पर ब्लू फिल्म लगी पड़ी है और चोद चुदाई का सीन चल रहा है और लड़की चिल्ला रही है ‘आ आहा अहहा… और ज़ोर ज़ोर से फक मी हार्ड!
यह सुन कर मेरा पूरा ध्यान मूवी पर चला गया.

loading...

इतने में पीछे से वो आ गई, वैसे उसका नाम श्वेता था, और मूवी को देखने लगी.
मेरे को अहसाह हुआ तो मैंने उसकी तरफ देखा तो वो सकपका गई, मैंने टीवी बंद कर दिया और उससे कहा- अच्छा, ये देखते हो?
और उसको अपने पास बैठने के लिए कहा और पूछा- लगता है मिस्टर रात को आकर ज़्यादा थक जाते हैं?
तो वो मायूस सी हो गई.

मैंने उसके कंधे पर हाथ रखा तो वो मैंने सीने से लग गई, मैंने उसके माथे पर किस कर लिया तो उसके हल्का सा विरोध किया तो मैंने उसके होंठ अपने होंठों से दबा लिए और चूसने लगा, साथ ही उसकी चुची को एक हाथ से सहलाने लगा.
वो भी मेरा साथ देने लगी और मेरे गाल को चूमने लगी.

मैंने उसकी टी शर्ट निकाल दी, उसने काली ब्रा पहनी थी मैंने उसके ऊपर से ही उसका निप्पल चूसना शुरू कर दिया वो गर्म होने लगी और मेरे लंड पर हाथ मारने लगी, तो मैंने उसको उठाया, बेड पर लिटाया और उसकी ब्रा निकाल कर के फेंक दी और उसकी चुची को दबा कर रगड़ने लगा.
वो कंट्रोल से बाहर हो गई.

फिर मैंने उसके लोवर को निकाल करके अपने कपड़े भी उतार दिए और उसकी पेंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को सहला दिया तो वो पागल हो गई. फिर मैंने उसकी पेंटी को निकाल दिया और उसकी चूत की फाँक पर अपना मुंह लगा दिया और उसको चूसना शुरू कर दिया.
वो पागल हो गई और मेरा सिर दबा दिया और झड़ गई.

फिर उसने मेरा लंड अपने मुंह में लिया और उसको चूसना शुरू किया, उसका सारा माल निकाल दिया और उसको साफ करके दोबारा से उसके साथ खेलना शुरू कर दिया. मैंने भी उसकी चुची को छेड़ना और उसकी चूत में उंगली शुरू कर दी जिससे थोड़ी देर बाद लंड महाराज सलामी देने लगे तो मैंने उसको सीधा लेटाया और उसकी चूत पर लंड घुमाने लगा वो लंड को पुश करने लगी.

लेकिन मैं उसको चोद नहीं रहा था, तड़फा रहा था, उसकी चुदाई की भूख बढ़ा रहा था. थोड़ी देर के बाद वो रिक्वेस्ट करने लगी- प्लीज, अर्पित डाल दो, मत तड़फाओ!
तो मैंने अपना सुपारा उसकी चूत में डाल दिया. वो सिहर सी गई… काफ़ी दिनों से नहीं लिया होगा ना…
यह चोद चुदाई की कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!

मैंने उसको फिर बाहर निकाल लिया… वो पागल गई और मेरे को धक्का देकर मेरे ऊपर आ गई और अपनी चूत मेरे लंड पर रख कर उस पर बैठ गई और पूरा 5 इंच लंबा और 3 इंच मोटा लंड अपनी चूत में ले लिया और अपने दांत भींच लिए. उसको दर्द हो रहा था लेकिन वो सहन कर गई!

उसके बाद वो ऊपर नीचे होकर मजा लेने लगी तो मैंने उसको नीचे लेटा कर एक टाँग कंधे पर रख कर घचाघच उसको पेलना शुरू कर दिया तो जैसे वो मूवी में देखती थी, उसने शोर मचाना शुरू कर दिया- ज़ोर से चोद अर्पित… उम्म्ह… अहह… हय… याह… और ज़ोर से… चोद चोद के फाड़ डाल मेरी चूत को… आज फक मी हार्ड!

उसके बाद में रुक गया और उसको घोड़ी बना करके उसकी चूत में पीछे से लंड पेल दिया और उसकी चूत में सारा माल डाल दिया.

उसके बाद मैं उसको दो साल तक नये नये स्टाइल में चोदता रहा.
अब वो जयपुर चली गई है. मैं जब कभी वहाँ अपने काम से जाता हूँ तो श्वेता को चोद कर आता हूँ.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...