loading...

कॉलेज हॉस्टल में मस्त लेस्बियन चुदाई

ये कहानी है कॉलेज होस्टइल में लेस्बियन चुदाई की। आप सभी Myantarvasna.com के पाठकों का तहेदिल से धन्यवाद देती हु। आप सभी का बहुत प्यार मिला। मैं रिया__ फिर एक बार आपके सामने हाजिर हूँ अपनी एक और कहानी के साथ। यह कहानी मेरी और मेरी सहेली शिखा की है।

आप सभी ने मेरी पहली कहानी को जो ढेर सारा प्यार दिया__ इसी वजह से मैं अपनी नई कहानी आपके सामने रखने जा रही हूँ। आप यह कहानी MyAntarvasna.com पर पढ़ रहे हैं।

मैं और शिखा बहुत अच्छी सहेलियां बन गई थीं। हमारी दोस्ती बहुत गहरी हो गई थी। सभी काम हम साथ में ही करती थीं__ जैसे खाना खाना__ कॉलेज जाना__ एक साथ बैठना__ मतलब लगभग हर काम साथ में करना। यहाँ तक कि हॉस्टल में हमने अपने बिस्तर एक साथ जोड़ लिए थे और हम साथ में ही सोते थे। सब हमें पक्का जोड़ वाली सहेलियां कहते थे__ और क्यों ना कहें__ हम दोनों थे ही ऐसे__ और आगे भी हम ‘बेस्ट फ्रेन्डस’ ही रहेंगे। हम दोनों का एक रूटीन बन गया था__ सुबह उठना__ साथ में नहाना__ कॉलेज जाना__ वापस आना__ आने के बाद थोड़ी मस्ती करना और रात में एक-दूसरे के साथ नंगे सोना। रोज यही रूटीन और छुट्टी के दिन लेस्बियन सेक्स करना।

एक दिन ऐसे ही शिखा ने कहा- इस छुट्टी को कुछ अलग तरीके से एन्जॉय करते हैं।

मैंने पूछा- क्या अलग__?
उसने कहा- कुछ भी__
मैंने कहा- ठीक है__

रात को हमने ब्लू-फिल्म देखने का प्लान तय किया। एक लेस्बियन सेक्स हमने देखा… उसे देख हम भी रह नहीं पाए और फिर एक-दूसरे को किस करने लगे। हम दोनों ने सोच लिया था कि इस फिल्म की तरह ही कुछ करेंगे।

उस फिल्म में डिल्डो का इस्तेमाल किया गया था। हमने डिल्डो लाने की सोची__ मगर कहाँ से लाएं__
तो शिखा ने कहा- तुम कॉलेज से टेस्ट-ट्यूब चुरा लाओ__ मैं मार्केट से केले ले लाती हूँ__

बस__ इस तरह हमारा डिल्डो तैयार हो गया।

अगले दिन मैंने लैब से एक टेस्टट्यूब चुरा ली और शिखा भी केले खरीद कर लाई। अब बस रात का इंतजार था__।

रात को खाना खाकर हम दोनों कमरे में आए। आज हम दोनों भी बड़े खुश थे। मैंने दरवाजे को बंद कर दिया और टेस्ट-ट्यूब निकाली और उसने केले निकाले। मैंने कहा- बहुत मजा आएगा आज__

उसने ‘हाँ’ में सर हिलाया। हम एक-दूसरे के गले लग गए।

शिखा ने टी-शर्ट पहनी थी और थ्री क्वार्टर पैन्ट__ वो बहुत ही सेक्सी लग रही थी। उसके मम्मे मुझे बड़े आकर्षित कर रहे थे। मैंने भी ट्रान्सपरेंट नाईट ड्रेस पहनी थी__ जिसमें से मेरी ब्रा साफ नजर आ रही थी।

फिर हम दोनों पागलों की तरह किस करने लग गए__ दोनों ही मदमस्त होकर एक-दूसरे के होंठों को चूस रही थीं।

खूब मजा आ रहा था__ फिर मैंने अपनी जीभ उसके मुँह में डाल दी और उसके जीभ के साथ खेलने लगी। फिर शिखा ने जीभ चचोरते हुए मेरा थूक चाट लिया। मैं उसकी गर्दन को किस करते हुए चाटने लगी। मेरा हाथ कब उसकी कमर पर चला गया और कब उसे सहलाने लगा__ मुझे पता ही नहीं चला।

फिर उसने मेरी नाईट ड्रेस निकाल फेंकी और मैंने भी उसकी टी-शर्ट निकाल दी। उसके 34 साइज़ के मम्मे मुझे बुला रहे थे। मैं उसकी ब्रा के ऊपर से ही उन्हें दबाने लगी।

शिखा भी मेरे मम्मों को दबा रही थी। उसे बड़ा मजा आ रहा था। मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया__ उसकी ब्रा खोल दी__।

क्या मस्त मम्मे थे उसके__ मैं तो देखती ही रही और सीधा मुँह से चूसने लगी।

फिर उसके निप्पल से दूध चूसने लगी और एक निप्पल हल्का सा काट लिया__ वो चिल्लाई- धीरे यार__।

loading...

उसके हाथ मेरी पीठ पर घूम रहे थे__ क्या बताऊँ__ कितना मजा आ रहा था।

दोनों मम्मों को चूसने के बाद मैं पेट को जीभ से चाटती हुई नीचे गई। उसकी पैन्ट खोल दी__ उसकी मदहोश करने वाली टाँगों को चाटने लगी।

जांघों को किस करते हुए चूत तक पहुँच गई। उसकी पैन्टी के ऊपर से ही चूत को सूंघने लगी। चूत की खुश्बू सूंघ कर मैं तो बेहोश होने लगी थी__ आह्ह__ क्या नशा था उसमें__।

उधर शिखा बेकाबू होते जा रही थी__ हल्की सी सिसकारियाँ ले रही थी।

फिर मैंने उसकी चूत को पैन्टी के ऊपर से ही किस किया और पैन्टी को दाँतों से पकड़ कर धीरे से नीचे तक खींच लिया।

अब वो पूरी नग्न थी__ उसका कामुक शरीर__ मुझे बेहाल कर रहा था।

मैंने उसकी चूत पर थूक दिया और चूत को चाटने लगी__ शिखा के मुँह से मदमस्त आवाजें आ रही थीं__ जो मुझे और उत्तेजित कर रही थीं।

फिर शिखा ने कहा- अब रहा नहीं जाता__ जल्दी से कुछ कर__।
मैंने कहा- ठीक है__

मैंने एक केला निकाला__ केले के छिलके फेंक दिए और केले को शिखा के मुँह में डाल दिया। एक ओर से वो__ और दूसरी ओर से मैं__ केले को लंड की तरह चाटने लगे। थोड़ी देर चाटने के बाद मैंने वो केला उसकी चूत में डाल दिया और चूत को केले से चोदने लगी। उसे बड़ा मजा आने लगा और वो मस्त आवाजें निकालने लगी।

“आआआहह… आआअहह__ जोर से रिया और जोर से__ बहुत मजा आ रहा है__ करती रह__ रूक मत__ अअआआहहह__।”

मैं अन्दर-बाहर करती रही__ एक हाथ से उसके मम्मों को भी दबाती__ तो कभी चूत में थूक कर फिर से केले को अन्दर-बाहर करती रही और वो चिल्लाती रही।

कुछ देर बाद वो चरम सीमा तक पहुँच गई और चिल्लाती हुई झड़ गई।

केला उसके पानी से गीला हो गया था। मैंने उसका पूरा पानी चाट लिया__ आह्ह__ मस्त टेस्टी था।

फिर मैं उसके ऊपर आ गई__ उसे किस किया और हम दोनों ने मिल कर वो केला खा लिया। चूत के रस से उस केले का टेस्ट भी मस्त लग रहा था।

फिर शिखा ने मुझे झट से नीचे गिरा दिया और मेरे बदन को पागलों की तरह चाटने लगी। मेरे पूरे बदन में बिजली दौड़ने लगी। उसने टेस्टट्यूब ली और सीधी मेरी चूत में घुसा दी। मुझे अंदाजा भी नहीं था__ मैं जोर से चिल्ला पड़ी। वो पागल हो गई थी__ जोर-जोर से मेरी चूत में अन्दर-बाहर कर रही थी।

मैं चिल्ला रही थी__ पर वो सुनने को तैयार ही नहीं थी। बीच-बीच में कभी मेरे मम्मों को दबा देती__ नहीं तो किस करती__ और फिर से चूत को टेस्टट्यूब से चोदती__

ऐसा करते-करते मैं झड़ गई। उसने पूरा पानी पी लिया। फिर हम दोनों किस करने लगे और थोड़ी देर में एक-दूसरे से चिपक कर नंगे ही सो गए।

मेरी यह कहानी कैसी लगी… जरूर बताईए.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...