loading...

जीजू की कुँवारी बहन की चुदाई

ये कहानी है, कुँवारी बहन की चुदाई

loading...

मेरा नाम राहुल है ओर मै एक कंप्यूटर इंजीनियर हूँ, पुणे में रहता हूँ, Hindi Sex Stories Antarvasna Kamaukta जो कहानी मै आज आप लोगों को पेश कर रहा हूँ, वो 100% सच्ची है। मै काफी दिन से सोच रहा था की मै भी मस्तकाानी।कॉम पे पानी एक कहानी पोस्ट करूं, खों की मै भी यहां पर लोगों की कहानी पढ़ता हूँ, और एंजाय करता हूँ,
ये कहानी मेरी ओर मेरे जीजू की छोटी बहन निशा की है। कहते हैं ना मेरे भाई ऊपर वाला अगर किसी को मिलना चाहे तो वो कभी भी मिला सकता हे ऐसा ही मेरे साथ भी हुआ। और मुझे ये मौका मिकला। में ओर निशा एक साथ सचुल में पढ़ते थे। वो मुझे बहुत अच्छी लगती थी लेकिन बाद में वो चंडीगढ़ शिफ्ट हो गई।वो बहुत ही हॉट ओर चुदाईी लड़की थी पूरे कॉलेज में। लेकिन कुछ साल बाद उसके बारे भाई भाई के साथ मेरी दी की शादी फिक्स हो गई ओर हम फिर से मिले ओर हमारी फिर से लेकिन स्टार्ट हो गई।
धीरे धीरे हम दोनों का प्यार परवान चढ़ा और हमारी लेकिन ब्धहने लगी ओर कब हम एक दूसरे के करीब आ गए पता ही नहीं चला। सॉरी में आपको निशा के बारे में तो बताना ही भूल गया, वो बहुत ही सुंदर हे ओर उसका फिगर बहुत चुदाईी हे। उसका फिगर 34-30-34 हे जो मै खुद अपने हाथों से मेषर किया हुआ हे।बड़ी ही मस्त है यार मै यही कह सकता हूँ। में फिर से कहानी पे आता हूँ।।ऐसे ही धीरे धीरे हमारी ब्ते चुदाई चाट में बदलने लगी।
उसे दिन हम दोनों देर रात तक चुदाई चाट करते ओर मस्तेरबेट करते। लेकिन हमें चुदाई करने का मौका नहीं मिल पा रहा था। सिर्फ़ मूठ मर मर के ही काम चलाया। दी की शादी के बाद जब फर्स्ट टाइम में दी को लेने गया तो मै उसे फर्स्ट टाइम किस किया उसके घर पे।
रात को सबके सोने के बाद हम रोज की तरह चुदाई चाट कर रहे थे ओर मेरा मूंड़ बन गया। उन्होंने मुझे एक रूम दिया था अपने घर पे तो मै उसे बोला की एक ब्र रूम में आ जाओ ना। पहले तो वो मना कर रही थी लेकिन मेरे बहुत ब्र बोलने पर वो मान गई ओर आ गई। हमने बहुत टाइट हग किया ओर उसके चूची मेरी चेस्ट से टच हो रहे थे… में उसके चूची दबाने स्टार्ट कर कर दिया इतने में तो वो सिसकियां लेने लगी…आ आ राहुल मत करो प्ल्स कोई आ जाएगा लेकिन में कहा मानने वाला था ओर में ओर तेज तेज दबाने लगा। थोड़ी देर में वो भी मेरा साथ देने लगी ओर बोलनी राहुल ओर दबाओ ओर निचोड़ दो पूरा रस मेरे चूची से। ओर फिर मै उसका हाथ अपने लौड़ा पर रख दिया…उसे छूते ही वो डर गई ओर बोली राहुल इतना बड़ा।
मै निशा को बोला की अब तुम ही इसे शांत कर सकती हो ओर मै अपने पेंट की ज़िप खोल के लौड़ा बाहर निकल लिया ओर उसे आगे पीछे करने लगी। लड़की के हाथ से मूठ मरवाने का अपना अलग ही मजा होता हे। फिर अचानक से किसी के उठने की आवाज़ आई ओर वो चली गई ओर उस रात मुझे उसकी गीली चुत के बारे में सोच कर मूठ मारनी पड़ी। नेक्स्ट मॉर्निंग हमने अपने घर वापस जाना था तो मै निशा को बोला की तुम भी चलो साथ में तो वो मान गई ओर हम निकल पड़े। रास्ते में दी सो गई ओर ठंड का टाइम था तो निशा ने जॅकेट पहन रखी थी मै उसे बोला की जकेट को आगे से पहन लो ओर उसने वैसा ही किया…।फिर मै जॅकेट के अंदर हाथ डाल के उसके चूची को खूब दबाया। ओर फिर अंदर हाथ डाल के उसकी ब्रा भी निकल दी ओर सॉफ्ट सॉफ्ट चूची को पहली ब्र छुआ अंदर से। फिर शाम को हम घर पहुंच गए…।।नेक्स्ट डे हम दोनों उनके पुराने घर चले गये जहां कोई नहीं रहता था…।।वहाँ जाते ही मै दरवाजा बंद किया ओर में उसे डायरेक्ट रूम में ले गया ओर उसको लीप किस किया…।।हमारी किस पूरे 10 मिनट तक चली।
उसके बाद मै उसके चूची दबाने शुरू किए ओर धीरे धीरे उसके सारे कपड़े उतार दिए ओर अब वो मेरे सामने स्र्फ ब्रा ओर पैंटी में थी……में एक हाथ से उसके चूची दबा रहा था ओर दूसरे से उसकी चुत को पैंटी के ऊपर से सहला रहा था…वो ओर भी ज्यादा एक्साइड हो रही थी ओर उसकी पैंटी पूरी गीली हो चुकी थी।। फिर उसने मेरे भी सारे कपड़े उतार दिए ओर जैसे ही उसने मेरा आंडरवेयर नीचे किया मेरा 7 इंच का लौड़ा फान्न फनता हुआ बाहर निकल गया ओर वो ड़खटे ही डर गई ओर बोली इतना बड़ा में नहीं ले पाऊंगी। फिर हम 69 पोज़िशन में आ गए ओर चूसते रहे…।मै अपना सारा स्पर्म उसके मुंह में ही निकल दिया।
थोड़ी देर बाद मेरा लौड़ा फिर से खड़ा हो गया।।अब मै उसकी टांगों को थोड़ा फैलाया ओर उसके बीच में आ गया ओर अपना लौड़ा उसकी चुत पे रगड़ने लगा…थोड़ी देर तक ऐसे ही करते रहा फिर वो बोली राहुल ओर म्ट तड़पा ओर डाल दो इसको मेरी चुत में ओर फाड़ दो मेरी चुत। वो वर्जिन थी।।जैसे ही मै अपना फ्ला शॉट मारा उसकी सील टूट गई ओर खून निकालने लगा। वो बहुत ज़ोर से छीकी लेकिन मै उसके मुंह पे हाथ रख दिया था।।उसे बहुत दर्द होने लगा ओर वो मना करने लगी…फिर में थोड़ी देर रुक गया ओर उसे फिर से लौड़ा चूसाया ओर जब उसका दर्द थोड़ा कम हुआ तो मै फिर से उसकी चुत में डालना शुरू किया…।पहले तो धीरे धीरे से डाला ओर फिर एकडम से एक ज़ोर का झटका मारा ओर पूरा 7 इंच का लौड़ा उसकी चुत में उतार दिया
फिर हमने निशा को पीछे से चोदने लगा, वो तो बस आ आह आह कर रही थी। मै तेज तेज चोदने लगा ओर अब उसे भी मजा आने लगा था ओर वो बोल रही ओर ज़ोर से चोदा…बहुत मजा आ रहा हे ओर अहहा हे आहह आहह की चीख निकालने लगी। थोड़ी देर में उसका पानी चुत गया ओर लेकिन में अभी भी नहीं जाधा था…।थोड़ी देर बाद जब मेरा निकालने वाला था तो मै उससे पूछा कहा निकालु तो उसने बोला की मेरे चूची पे निकल दो…फिर मै अपना सारा स्पर्म उसके चूची पे निकल दिया ओर उसने मेरा लौड़ा चाट कर साफ कर दिया ओर हम बेड पर साइड में ही लेट गये। फिर थोड़ी देर बाद हमने साथ में बात किया ओर वहाँ फिर से मेरा खड़ा हो गया तो हमने एक ब्र फिर से बाथरूम में ही चुदाई की ओर इस ब्र मै उसके मुंह पर अपना स्पर्म नियकला।फिर शाम को हम वापस अपने घर आ गये।। अगली कहानी में ब्टौँगा की कैसे मै निशा को पटाया ओर उसकी गान्ड मारी। दोस्तों मुझे काफी मजा आया था उसे दिन जब मै अपने जीजा की बहन की चुदाई की थी।

कुँवारी बहन की चुदाई

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...