loading...
railway-group-d

मॉल में भाभी को पटाया और

loading...

Mast desi kahani तो मेरे दोस्तों आजकल मैं बच्च्चों को भी जिम या योगा और बड़े लोगों को भी जिम और योगा सिखाता हूँ। मैं कुछ दिन पहले पास के एक शॉपिंग मॉल गया था। शनिवार के दिन था तो हर जगह भीड़ थी क्योंकि बहुत सेल लगी हुई थी। मैं भी अपने लिए कुछ स्किन टाइट टी शर्ट देख रहा था, तभी मेरी नज़र एक 26-27 साल की बंदी पर पड़ी, एकदम दूध की तरह गोरी थी और चुची का साइज़ लगभग 34 होगा, वो मेरे को बार बार देख भी रही थी। जब मैं बिलिंग पे पहुँचा तो इत्तिफाक से वो मेरे पीछे आकर लग गई, भीड़ थी तो मेरी कोहनी एक दो बार उसकी चुची से टकरा गई, क्या मस्त मखमली मजा आ गया, क्योंकि यह मेरा पहला अनुभव था तो बहुत मजा आ रहा था, मैंने पीछे मुड़ कर सॉरी कहा तो उसने स्माइल देकर ‘इट’स ओके’ बोला। मुझे लगा बात बन सकती है, मैंने कहा- बहुत भीड़ हैं आज! तो उसने अपनी पतली सी आवाज़ में कहा- यस यू आर राइट! उसका अपना नाम शेफाली बताया और बोली मुझे भी आज अकेले ही मेट्रो से आना पड़ा। मैंने भी कहा- हाँ गर्मी बहुत हैं आज! फिर धीरे धीरे हमारी बातें हुई तो उसने बताया उसकी अभी 6 महीने पहले ही शादी हुई है, और यहाँ पे अपने पति के साथ फ़्लैट में रहती है। मैंने अपने बारे में बताया कि मैं जिम और योगा इन्स्ट्रक्टर हूँ, तो वो खुश हो गई, बोली- थ्ट्स नाइस! और इसी बीच मैंने एक बार और कोहनी लगा दी, तो वो बोली- तभी इतने स्ट्रॉंग आर्म्स हैं आपके! और कुटिल स्माइल दे दी। हम दोनों ने बिल कराया और चलने लगे, फिर बोली- अच्छा, मैं चलती हूँ. मैंने कहा- आप इतनी गर्मी में कहाँ मेट्रो से जाएँगी, मैं अपनी कार से आपको ड्रॉप कर दूँगा, अगर आपको कोई प्राब्लम ना हो तो? उसने मुझे ऊपर से नीचे तक देखा और सोच कर बोली- अच्छा ठीक है… लेकिन सिर्फ़ कॉलोनी के गेट तक! हम पार्किंग की तरफ चल दिए, लिफ्ट में भीड़ थी, वो मेरे आगे खड़ी थी तो मेरा लंड थोड़ा उसके पीछे लग रहा था, शायद उसको भी मजा आ रहा था इसलिये कुछ नहीं बोली। फिर हम कार में बैठ कर चल दिए, मैं बार बार गियर लगाने के चक्कर में उसकी जांघ पर हाथ रख कर देता था। वो स्माइल करके बताने लगी- मेरे पति सॉफ्टवेयर में बड़ी पोस्ट पर हैं तो 1-2 हफ्ते के लिए विदेश जाते रहते हैं। फिर झट से मैंने पूछा- आपको नहीं ले जाते क्या? वो बोली- कभी कभी ले जाते हैं और बाकी टाइम मैं यहीं रह कर मूवीस देख कर टाइम पास करती हूँ। मैंने कहा- ओह, जब आप फ्री होंगे तो मैं आपको योगा सीखा दूँगा. वो खुश हो गई। इतने मैं उसका घर आ गया तो वो बोली- धूप बहुत है, घर तक चलिए प्लीज़! मेरा तो पहले से ही उसको चोदने को मन कर रहा था, घर पहुंच कर उसने मुझसे कॉफी के लिए पूछा और मैंने हां कर दिया. क्या आलीशान फ़्लैट था। वो कॉफी बनाकर ले आई और पास बैठ गई, उसकी चुची की गहराई दिखने लगी तो मैंने उससे कहा- आप बहुत सुंदर हो सेक्सी हो! तो वो बोली- आप भी कम नहीं हो! और स्माइल दे दी। वो उठकर नमकीन लेने जाने लगी तो मैंने उसका हाथ पकड़कर खींच कर सोफे पे बिठाया और बोला- आप इतने नमकीन हो तो नमकीन की क्या ज़रूरत है! और एक ज़बरदस्त किस किया, पहले तो उसने मना किया, फिर कुछ मिनट तक लिप लॉक रहा और सन्नाटा! क्या रसीले होंठ थे उसके… कब से किसी ने रसपान ना किया हो जैसे! फिर मैं बिना बोले उसको उठा कर उसके बेडरूम में ले गया, वहाँ एसी पहले से चल रहा था. अब वो तड़प सी रही थी, ‘समर प्लीज़ प्लीज़!’ करते हुए अपने टॉप को उतार दिया, मस्त काली ब्रा थी उसकी… मैंने ब्रा खोल कर दोनों कबूतर को आज़ाद किया और मखमली बिस्तर पे चुची रसपान करने लगा। वो सी-सी करने लगी और पूरा मजा लेते हुए बोली- उम्म्ह… अहह… हय… याह… प्लीज़ फक मी… फक मी! फिर मैं कहाँ रुकने वाला था, मैं अपने हाथ से उसकी चूत को दबाने लगा वो पूरे मज़े ले रही थी, और बोली- अब रहा नहीं जाता, प्लीज़ सक माइ बूब्स हार्ड! मैं मस्त होकर उसकी चुची चूसने लगा और उसकी जीन्स और पेंटी भी उतार दी, उसकी मुलायम और मखमली चूत चाटने लगा. वो भी कहने लगी- मुझे भी मुंह में चाहिए। फिर हम 69 पोज़िशन में आकर मस्त एक दूसरे की सकिंग करने लगे और मजा आ रहा था। वो बोली- आज तो ज़न्नत मिल रही है, प्लीज़ करते रहो… रूको मत! मुझे और जोश आ गया, मैंने जल्दी से मैंने अपना घोड़ा निकाला और पिंक चिकनी चूत पे धीरे धीरे रगड़ने लगा. वो पागल हो रही थी. यह हिंदी भाभी की चुदाई की कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं! फिर एक एक झटके के साथ आधा लंड अंदर… वो चिल्ला पड़ी और आँखों से आँसू आ गये, बोली- जानू और डालो मजा आ रहा है। धीरे धीरे पूरा लंड अंदर जाते ही वो मजा लेने लगी, फिर मैंने धक्के देने शुरू किए, वो तो कुछ मिनट में ही ढेर हो गई। मैंने फिर काफी देर तक मस्त चुदाई की उसकी और बोला- जान माल कहाँ डालूँ? वो बोली- अंदर ही डाल दो, मैं दवाई खा लूँगी। और फिर हम लिपट कर एसी की ठंडी हवा में सो गये। एक डेढ़ घण्टे बाद उठ कर मैंने उसको किस देकर प्यारा सा गुडबाई किया. उसके बाद जब तक उसके पति नहीं आए, तब तक 2-3 बार और उसके घर जाकर उसकी चुदाई की. आपको यह मेरी पहली सेक्सी कहानी कैसे लगी, प्लीज़ ईमेल करके ज़रूर बताना। [email protected]

अन्य मजेदार कहानियाँ

loading...