loading...

हॉट मामी की चुदाई 

ये बात तब की है, जब मैं अपने मामा-मामी के घर पर गया था। मेरी छुटियाँ चल रही थी तो मैं उनके घर अपनी छुटियाँ बिताने के लिए गया था। मेरे मामा का एक शॉप था तो वो अक्सर शॉप में ही रहते थे। 

एक दिन की बात है, मामा दुकान पर गए थे, आजकल उनके साथ मैं भी दुकान पर चला जाता था. लेकिन उस दिन मैं नहीं गया क्योंकि मुझे मामी के साथ में बाज़ार जाना था. मामा ने ही मुझे मामी के साथ जाने के लिए बोला था. इसलिए उस दिन मैं घर पर ही था. मेरी मामी बहुत सेक्सी और हॉट हैं.

अभी सुबह के 11 बजे थे, मैं बाथरूम में जाकर फ्रेश होकर आया. मैंने देखा कि मामी रसोई में थीं. मेरे बाथरूम से बाहर आते ही मामी ने मुझे ऐसे देखा, जैसे वे मुझे पहली बार देख रही हों.

दरअसल मैं नहा कर सिर्फ तौलिया बांधे बाहर आ गया था तो मैं मामी के यूं देखने से एकदम से शर्मा गया.

मैं बोला- मामीजी, जरा मेरे कपड़े दे दो प्लीज़.
मामी मेरे कपड़े लेने के लिए मेरे कमरे में आईं.. पीछे से मैं भी रूम में आ गया. मैंने देखा कि मामी मुझे बड़े गौर से देख रही थीं.

मामी बोली- आज तो तू बहुत सेक्सी लग रहा है. तेरा शरीर तो तेरे मामा से भी हॉट लगता है.
उनकी इस बिंदास बात से मुझे शर्म आ रही थी. मैं बोला- मामी ऐसी बात मत करो.. मुझे जल्दी से कपड़े दे दो.
मामी ने कपड़े दिए और वो हंसती हुई बाहर आ गईं.

फिर मामी भी नहाने के लिए बाथरूम में गईं. थोड़े टाइम में बाद मामी ब्लाउज और पेटीकोट में ही बाहर आ गईं. मैंने देखा तो मामी के बड़े मम्मे ब्लाउज में बड़े ही मादक और तने हुए दिख रहे थे. उनके पतले से भीगे हुए पेटीकोट में से पेंटी की रेखाएं भी दिख रही थीं. मैं मामी को बड़े गौर से देखने लगा.

मामी ने मुझे यूं देखते हुए देखा तो वे बोलीं- क्या हुआ मुझे ऐसे क्या देख रहे हो? कभी पहले नहीं देखा क्या?
मैंने कुछ नहीं कहा और नजरें फेर लीं. फिर थोड़े टाइम में मामी तैयार हो कर बाहर आईं और हम दोनों बाज़ार के लिए निकल गए.

बातों ही बातों में मामी ने मुझसे पूछा- तेरी कोई गर्लफ्रेंड है या नहीं?
मैंने बोला- नहीं है मामी.

बाज़ार जाकर उन्होंने कुछ सामान खरीदा और इसके बाद मामी एक लेडीज गारमेंट्स की दुकान में घुस गईं. वहां पर मुझे भी अन्दर ले जाकर ब्रा और पेंटी खरीदने लगीं. उनके ब्रा खरीदने के अंदाज से मुझे शर्म आ रही थी.
तभी मामी ने मुझे एक जालीदार ब्रा दिखाते हुए बोला- कौन सी डिज़ाइन लूँ बताओ ना?
मैंने कुछ नहीं कहा, मामी ने 2 सैट ले लिए.

अब हम दोनों वापस घर आने लगे. तभी मामी ने बोला- तू दुकान में ब्रा के बारे में क्यों कुछ नहीं बोला?
मैं कुछ नहीं बोला. पर बार-बार मामी ने पूछा तो मैंने बोला कि मुझे शर्म आती है.
इस पर मामी बोलीं- इसमें शर्म की क्या बात है?

हम घर पहुँच गए और बैठ कर बातें करने लगे. मामी ने मेरे करीब आकर जो ब्रा पेंटी लाई थीं, उन्हें दिखाते हुए बोलीं- देख ज़रा.. कैसी हैं?
तो मैंने बोला- अच्छी तो हैं.
अब मैं थोड़ा खुल कर बात करने लगा. मैं और मामी ब्रा-पेंटी को लेकर बात करने लगे.

मैंने टीवी ऑन कर दिया और हम दोनों टीवी के साथ बातें भी करते जा रहे थे. मैं टीवी में चैनल बदल रहा था, तभी एक चैनल में सेक्सी सीन आ रहा था.
मामी ने बोला- यहाँ रुक..
मैंने रिमोट रोक दिया और वो सीन देखने लगा. मैं बोला- मामी इसमें सेक्सी सीन में चूमाचाटी हो रही है.. आगे बढ़ा दूँ?
मामी ने मेरे पास आकर मेरे सर में हाथ रखा फिर मेरे कंधे पर हाथ रख कर बोलीं- देखो ना कितना मस्त किसिंग सीन चल रहा है.

loading...

मैं मामी को देखने लगा.
फिर मामी मेरे हाथ पर अपना हाथ फिरा कर बोलीं- तूने भी किस किया है किसी के साथ में?
मैंने बोला- नहीं किया.
मामी ने बोला- अब बहुत जल्दी कर लेगा.
ये कहते हुए उन्होंने मुझे गाल में एक किस किया. मैं बोला- मामी ये क्या कर रही हो आप?
मैं घबरा गया था.

मामी ने बोला- तेरे को किस करना सिखा रही हूँ.
मैं डर गया, मामी ने बोला- डरो मत.. मैं किसी को भी नहीं बताऊंगी.

मैं उन्हें प्यार से देखने लगा तो मामी ने फिर से मेरे गाल पर किस करने लगीं. मैंने इस बार कुछ नहीं कहा तो मामी ने मेरे होंठ पे होंठ रख दिए और थरथराती हुई बोलीं- तेरे होंठ तो बड़े सॉफ्ट हैं!
मैंने मामी के होंठों से अपने होंठ चिपका दिए और उनका रस चूसने लगा. उन्होंने मुझे अपनी बांहों में खींचते हुए अपनी गोद में कर लिया. अब मैं भी मामी का साथ देने लगा.

मैंने मामी के मम्मों पर हाथ रख कर जोर से दबा दिए.
मामी ने कहा- आह.. जोर से दबा ना..

कुछ पल में हम दोनों गर्म हो गए और कमरे में आ गए. मामी ने मुझे पूरा नंगा कर दिया और मेरे लंड को देखने लगीं, लंड को हाथ की उंगली से टच करके बोलीं- तेरा तो ये बड़ा कड़क है.
मैंने मामी की चुत पर उंगली फेरी तो मामी मुझे गाली देने लगीं- मादरचोद, इतना बड़ा लंड तू अपनी मामी को क्यों नहीं दे रहा है.

फिर क्या था मैंने भी गाली देते हुए बोला- साली रंडी.. ये लंड तेरी चुत के लिए ही है. चल खोल दे अपनी चुत!
मामी ने लंड पकड़ कर मसल दिया और कहा- तू ही नंगी कर दे ना.

फिर मैंने मामी सारे कपड़े उतार दिए और उनको नंगी कर दिया. उनके बड़े मम्मों को जोर-जोर से दबाने लगा और एक चूचे को मुँह में लेकर किस करने लगा. मामी ने भी मेरे लंड को हिलाना शुरू कर दिया और फिर लंड को मुँह में लेकर करते हुए चाटना शुरू कर दिया. अब मामी जोर-जोर से लंड को चूमने और चूसने लगीं.

मामी बोली- बोल आज अपनी मामी को चोदेगा?
तो मैंने बोला- हाँ मेरी रंडी.. तुझे चोदने के लिए ही तो लंड खड़ा किया है.

फिर हम दोनों 69 की पोजीशन में हो गए. मैं उनकी चुत में जोर-जोर से किस करने लगा और वो मेरे लंड को चूमने लगीं. मैंने चुत में उंगली डाली और चुत को चाटा, मुझे चुत चुसाई में बहुत बहुत मजा आ रहा था.

कुछ देर के लंड चुत की चुसाई के बाद मैं सीधा होकर मामी की चुत में अपना लंड डालने लगा. मामी गांड उठा कर चुदाई का बहुत मजा दे रही थीं और साथ में गाली देते हुए बात भी कर रही थीं- चोद मादरचोद.. तेरी प्यासी मामी को चोद दे.. फाड़ डाल अपनी मामी की चुत..’
मैं भी गाली देकर बोला- हाँ ले रंडी तेरी आज तो चुत फाड़ कर ही दम लूँगा.

कुछ देर चुत चोदने के बाद मैंने मामी को बोला- तेरी गांड मारनी है.
तो बोलीं- मार ले मादरचोद.. जो करना है कर ले हसरत.. आज पूरी मामी ही तेरी है.
मैंने मामी को डॉगी स्टाइल में आने को बोला तो वो तुरंत कुतिया बन गईं. मैंने उनकी गांड में अपनी उंगली डाली और फिर लंड डालना शुरू किया. लंड को मामी की गांड में घुसेड़ कर मैं जोर-जोर से उनकी गांड मारने लगा.

कुछ देर बाद मैं झड़ गया और मामी भी शांत हो गईं. हम दोनों ऐसे ही नंगे लेटे रहे. थोड़ी देर के बाद वापस चुदाई का मजा किया. शाम तक मैंने 4 बार मामी को चोदा.

इसके बाद तो जब भी हम दोनों को टाइम मिलता चुत चुदाई शुरू हो जाती.

loading...

अन्य मजेदार कहानियाँ

>